ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्ज एप पर मेसेज करें|

पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माता जी के द्वारा अागमोक्त मंगल प्रवचन एवं मुंबई चातुर्मास में हो रहे विविध कार्यक्रम के दृश्य प्रतिदिन देखे - पारस चैनल पर प्रातः 6 बजे से 7 बजे (सीधा प्रसारण)एवं रात्रि 9 से 9:20 बजे तक|
इस मंत्र की जाप्य दो दिन 16 और 17 तारीख को करे |

सोलहकारण व्रत की जाप्य - "ऊँ ह्रीं अर्हं संवेग भावनायै नमः"

अंतरात्मा

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अंतरात्मा
Inner soul, Interior self, A type of soul. बाह्य विषयों से जीव की दृष्टि हटकर जब निज आत्मा की ओर झुक जाती है तब वह अंतरआत्मा कहलाती है अथवा आत्मा के तीन भेदों में एक भेद ।

अथवा

The interior self. आत्मा की ओर अभिसुख दृष्टि वाला ।