ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर २०१६- रविवार से सीधा प्रसारण चल रहा है | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

अंधहस्ती न्याय

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अंधहस्ती न्याय
To make decision without having knowledge of overall aspects of anything. जन्मांध पुरूष द्वारा हाथी के यथार्थ स्वरूप को जाने बिना उसके किसी एक अंग को पकड कर उसे ही हाथी मान लेना। अर्थात् संपूर्ण स्वरूप को जाने बिना आंशिक ज्ञान के आधार पर निर्णय लेना ।