Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


खुशखबरी ! पू० गणिनी श्रीज्ञानमती माताजी ससंघ कतारगाँव में भगवान आदिनाथ मंदिर में विराजमान हैं|

अणुवय रयण पईव

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अणुवय रयण पईव
Name of a book written by a poet- Lakkhan. अणुव्रत रत्न प्रदीप विषय पे आधारित कवि लक्खण(वि. १३१३) द्वारा रचित एक अपभ्रंश ग्रन्थ।