ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर, रविवार से ११ दिसंबर २०१६, रविवार तक प्रातः ६ बजे से ७ बजे तक सीधा प्रसारण होगा | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

अनिद्रा का उपचार एक्युप्रेसर द्वारा

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


[सम्पादन] एक्यूप्रेशर चिकित्सा के द्वारा अनिद्रा रोग का उपचार

Images (2).jpg
Wegioy.jpg
Wegioy.jpg

रात में नींद ना आना अथवा रात को देर तक जगे रहने को अनिद्रा कहते हैं | कारण – अनिद्रा रोग का खास कारण चिंता को माना जाता है | अगर कोई व्यक्ति अति उत्तेजित है, अवसाद जैसी मानसिक बीमारी से ग्रस्त है , जैसे उत्तेजक पदार्थ लेता है, गंदे वातावरण में रहता है, ज्यादा मेहनत करता है, बासी और गरिष्ठ भोजन का सेवन करता है, धूम्रपान करता है, नींद कि गोलियाँ लेता है, नशा ज्यादा करता है, तो उसे अनिद्रा का रोग हो सकता है |

लक्षण — आँखों का लाल होना, आँखों में नींद भरी होना, किसी भी काम में मन नहीं लगना आदि अनिद्रा रोग के लक्षण होते हैं |

उपचार – अनिद्रा रोग को दूर करने के लिए सबसे पहले रोगी को अपनी नींद को पूरा करना चाहिए | रोगी को रात को जल्दी सो जाना चाहिए, सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करना चाहिए, हरी घास पर नंगे पाँव चलना चाहिए, हल्के गुनगुने पानी से नहाना चाहिए, मन मस्तिष्क को शांत रखना चाहिए |

एक्यूप्रेशर चिकित्सा से उपचार करने के लिए हाथ की कलाई के पास तथा कंधे से छाती के पास के प्रतिबिम्ब बिंदुओं पर प्रेशर देने से तथा पैरों पर टखने से ऊपर और टखने के पास के प्रतिबिम्ब बिंदुओं पर प्रेशर देने से रोगी का अनिद्रा रोग धीरे-धीरे कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है | प्रेशर रोगी की सहनशक्ति के अनुसार प्रतिदिन कुछ सेकेंड के लिए देना चाहिए |

रोगी की दोनों भौहों के बीच के प्रतिबिम्ब बिंदु तथा रोगी के हाथ की कलाई के पास और अंगूठे से नीचे की ओर के प्रतिबिम्ब बिंदु पर 2-3 मिनट के लिए प्रतिदिन प्रेशर देने से रोगी का अनिद्रा रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है |

अनिद्रा रोग को ठीक करने के लिए एक्यूप्रेशर चिकित्सा के द्वारा मस्तिष्क, पाचनतंत्र से सम्बंधित प्रतिबिम्ब बिंदुओं पर कुछ दिनों तक प्रतिदिन कुछ मिनट के लिए 3 बार प्रेशर देने से अनिद्रा रोग ठीक हो जाता है

रात को सोने से से पहले हाथ—पैरों के अंगूठे तथा अँगुलियों पर प्रेशर देने से नींद अच्छी आती है | इसके अलावा दाएँ हाथ की अँगुलियों और बाएं हाथ की अंगुलियों को आपस में जोड़कर प्रेशर देने से अनिद्रा रोग दूर हो जाता है | इस प्रकार चिकित्सा करने से तनाव दूर होता है जिसके फलस्वरूप नींद अच्छी आती है |

दोनों हाथ की कलाई के पास अनिद्रा को दूर करने के लिए जो प्रतिबिम्ब बिंदु होता है उस पर प्रेशर देने से अनिद्रा रोग दूर हो जाता है |

जानकारी — अनिद्रा रोग को ठीक करने के लिए एक्यूप्रेशर चिकित्सा से उपचार करने के साथ-साथ कोशिश करनी चाहिए कि रात के समय में जल्दी सो जाएं तथा सुबह के समय में जल्दी उठ जाएं | नींद लाने वाली गोली का सेवन ना करें क्योंकि यदि नींद की गोली लेने की आदत पड़ गई तो इसका काफी गंभीर नतीजा हो सकता है | भोजन में मिर्च-मसाला कम कर देना चाहिए तथा शराब का सेवन नहीं करना चाहिए |