ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|

पू. ज्ञानमती माताजी के सानिध्य में सिद्धचक्र महामंडल विधान (२१ सितम्बर से २८ सितम्बर २०१७ तक) प्रारंभ हो गया है|

अपने चेहरे की आभा को ऐसे दमकाएं

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


अपने चेहरे की आभा को ऐसे दमकाएं

Flower-Border.png
Flower-Border.png

पके परवल के गूदे को बारीक पीसकर उसमें कच्चा दूध मिलाकर चेहरे पर रगड़े सांवलापन दूर हो जाएगा।

सेव के रस में थोड़ा सा बेसन मिलाकर चेहरे पर मलने से झुर्रियां व झांइयां दूर हो जाती हैं।

आंखों के नीचे का कालापन दूर करने के लिये कच्चे आलू की फांके रगड़ने से काले धब्बे दूर हो जाएंगे।

गुलाब के फूल की पंखुडियों को पीसकर लेप को ग्लिसरीन में मिलाकर चेहरे पर मलें, चेहरा गुलाब की भीनी भीनी खुशबू के साथ गुलाबी गुलाबी आभा में दमकने लगेगा।

माल्टा के रस में चीनी व मलाई मिलाकर चेहरे पर लगाने से त्वचा चमकदार बनी रहेगी।

लाल टमाटर व नींबू के रस में मुल्तानी मिट्टी मिलाकर चेहरे पर लगाने से त्वचा की खुश्की दूर होती है।

कागजी नींबू के छिलके जांघों पर मलने से जांघे चिकनी मुलायम तो होती ही हैं, रंगरूप भी निखरता है।

नाशपाती के गूदे को दूध में घोलकर, इसके लेप को चेहरे पर लगाकर रूई से रगड़े, फिर गुनगुने पानी से धो लें, चेहरा खिल उठेगा।

रात्रि में सोने से पूर्व एक छोटे चम्मच दही में चुटकी भर हल्दी फेटे, इसे हाथों पर मलें, हाथों का रंग रूप निखरने लगेगा।

ताजा लाल गुलाब का रस होठों पर लगाने से होठों की आभा दमकने लगती हैं, नित्य गुलाब का रस मलने से होठ फटते भी नहीं।

खट्टे फलों के गूदे हाथ पैरों पर मलें, सूखने पर हाथ पैर धो लें, हाथ पैरों का सौन्दर्य खिल उठेगा।

आजाद साप्ताहिक , अजमेर
३० जनवरी, २०१५