ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर २०१६- रविवार से सीधा प्रसारण चल रहा है | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

अपने पेट में दो बच्चे लेकर पैदा हुई ये अनोखी बच्ची

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

[सम्पादन]
अपने पेट में दो बच्चे लेकर पैदा हुई ये अनोखी बच्ची

एक नवजात बच्ची के जन्म के के कुछ देर बाद ही उसके पेट में जुड़वा बच्चे पल रहे थे चौक गए ना, लेकिन हाँगकांग में ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जहाँ एक बच्ची के जन्म के बाद डॉक्टरों को बच्ची का पेट असामान्य पाया, जन्म के समय इस बच्ची का वजन ४ किलो था, पहले तो डॉक्टरों को इस बच्ची के पेट में ट्यूमर लगा। लेकिन जाँच करने पर पता चला कि बच्ची के गर्भ में २ बच्चे पल रहे हैं, ये भ्रूण ८-१० हफ्ते के थे, इनका विकास भी किसी सामान्य भ्रूण की तरह ही हो रहा था, जांच में पता चला कि दोनों भ्रूण के दिमाग, हड्डियाँ और हाथ पांव विकसित हो रहे थे, इस कंडीशन को पेâट्स (भ्रूण) इन पेâटू कहा जाता है, ये एक ऐसी जटिल स्थिति है जिसका शिकार जन्म लेने वाले ५० लाख बच्चों में से कोई एक बच्चा होता है, पेâटस (भ्रूण) इन पेâटू की यह स्थिति गर्भधारण करने के शुरूआती दौर में आती है, जब विकसित होते दो भ्रूण में से एक भ्रूण गर्भनाल से होता हुआ दूसरे भ्रूण में प्रवेश कर जाता है और एक भ्रूण दूसरे भ्रूण में परजीवी के रूप में पलता रहता है।