ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर २०१६- रविवार से सीधा प्रसारण चल रहा है | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

अब मोटापे को बाय बाय कहें

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


[सम्पादन]
अब मोटापे को बाय बाय कहें

Fat go.jpg

ऐसा नहीं है कि मोटे लोग अपनी फिटनेस का ख्याल नहीं रखते लेकिन कई बार हर तरह से कोशिश करने के बावजूद मोटापा नहीं घटता और वजह भी समझ नहीं आती। आइये इसकी वजह जानने की कोशिश करें। दरअसल कई ऐसी छोटी छोटी वजहें होती हैं जिन्हें जानकारी के अभाव में हम नजर अंदाज कर जाते हैं और नतीजे के रूप में पाते हैं मोटा थुलथुला बेडोल शरीर। यदि इन छोटी लेकिन महत्वपूर्ण बातों को अपनी दिनचर्या में शामिल किया जाय तो मोटापे को हमेशा के लिए बाय बाय कहा जा सकता है।अपनी फिटनेस के लिए आपको क्या करना है, यह हम बताते हैं। भोजन में नमक की मात्रा कम करें तथा जिन पदार्थों में नमक की मात्रा ज्यादा होती है उन्हें न खाएं। नमक से शरीर में पानी जम जाता है जिससे शरीर फूलने लगता है। रोजाना अपनी डायट में पूरे दिन में एक चम्मच पिसी हुई अलसी शामिल करें । यह शरीर के उन हार्मोंस को नियंत्रित करती है जिनसे मोटापा या कब्ज होता है। कई लोगों को बहुत जल्दी जल्दी भोजन करने की आदत होती है और कई बार ज्यादा भूख लगने के साथ साथ वायु भी पेट में चली जाती है जिससे मोटापा बढ़ता है। यदि आपकी भी ऐसी आदत है तो इसे छोड़ दीजिए। भोजन तभी करें जब आप शांत हों। क्रोध या चिंता की अवस्था में यदि आप भोजन करते हैं तो पाचन ठीक से नहीं हो पाता जिससे मोटापा तो बढ़ता ही है, साथ ही पेट दर्द की समस्या भी होता है। अपने फाइबर जोन को पहचानें बहुत ज्यादा फाइबर भी मोटापे का कारण होता है और बहुत कम भी, इसलिए फाइबर जोन में संतुलन बहुत जरूरी है इसके लिए आप अपना परीक्षण स्वयं कर सकते हैं। अपने भोजन में फाइबर की मात्रा को धीरे धीरे बढ़ाएं या घटाएं और देखें कि आप कैसा महसूस कर रहे हैं। फिर अपने शरीर की जरूरत के हिसाब से फाइबर की मात्रा तय करें। इसके अलावा नियमित व्यायाम भी बेहद जरूरी है।संतुलित डायट के साथ—साथ अपनी दिनचर्या में से थोड़ा समय व्यायाम व टहलने के लिए भी निकलें। इससे आप स्वस्थ रहेंगे और स्लिम ट्रिम।

जिनेन्दु अहमदाबाद
१७ अगस्त २०१४