ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्ज एप पर मेसेज करें|

पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माता जी के द्वारा अागमोक्त मंगल प्रवचन एवं मुंबई चातुर्मास में हो रहे विविध कार्यक्रम के दृश्य प्रतिदिन देखे - पारस चैनल पर प्रातः 6 बजे से 7 बजे (सीधा प्रसारण)एवं रात्रि 9 से 9:20 बजे तक|
इस मंत्र की जाप्य दो दिन 18 और 19 तारीख को करे |

सोलहकारण व्रत की जाप्य - "ऊँ ह्रीं अर्हं शक्तितस्त्याग भावनायै नमः"

अभयमती

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अभयमती
Name of an Aryika, the disciple of Acharya Dharmsagar and younger sister of Ganini Aryika Shri Gyanmati Mataji of household life. पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिका श्री ज्ञानमती माताजी की शिष्या एवं गृहस्थावस्था की लघु बहन ,जिन्होंने सन १९६४ में पूज्य माता जी से क्षुल्लिका दीक्षा ग्रहण की .धर्म प्रभावना के साथ इन्होने अनेक प्रकार का साहित्य सृजन भी किया है ।