ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|

पू. ज्ञानमती माताजी के सानिध्य में सिद्धचक्र महामंडल विधान (२१ सितम्बर से २८ सितम्बर २०१७ तक) प्रारंभ हो गया है|

अरिष्ट

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अरिष्ट
A special type of heavenly deities (Laukantikidev), First Patal (layer) of Brahma heaven, A summit of Ruchak mountain, Harmful. लौकान्तिक देवों का एक भेद,ब्रह्य स्वर्ग का प्रथम पटल,रूचक पर्वत पर स्थित एक कूट.इस शब्द का सामान्य अर्थ अनिष्टकारी भी होता है ।