ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्ज एप पर मेसेज करें|

अवष्टम्भ

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अवष्टम्भ
Power of particular karma producing sense of vision.

बल-चक्षुदर्शन की शक्ति चक्षुदर्शनावरण, वीर्यान्तराय के क्षयोपशम से तथा अंगोंपांग नामकर्म के बल से अत्पन्न होती है ।