ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्ज एप पर मेसेज करें|

पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माता जी के द्वारा अागमोक्त मंगल प्रवचन एवं मुंबई चातुर्मास में हो रहे विविध कार्यक्रम के दृश्य प्रतिदिन देखे - पारस चैनल पर प्रातः 6 बजे से 7 बजे (सीधा प्रसारण)एवं रात्रि 9 से 9:20 बजे तक|
इस मंत्र की जाप्य दो दिन 16 और 17 तारीख को करे |

सोलहकारण व्रत की जाप्य - "ऊँ ह्रीं अर्हं संवेग भावनायै नमः"

अ‍नंत सागर जी महाराज

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


(1) पूज्यश्री का नाम ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(2) ग्रहस्थावस्था का नाम ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(3) जन्मस्थान ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(4) जन्मतिथि व दिनांक ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(5) जाति ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(6) गोत्र ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(7) माता का नाम ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(7) पिता का नाम ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(8) लौकिक शिक्षा ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(9) आजीवन ब्रह्मचर्य व्रत् ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(10) प्रतिमा व्रत ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(11) क्षुल्लक दीक्षा तिथि ,दिनांक व स्थान ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-

(12)क्षुल्लक दीक्षा गुरु ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-


(13)ऐलक दीक्षा तिथि ,दिनांक व स्थान ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-


(14) मुनि दीक्षा तिथि ,दिनांक व स्थान ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-


(15)मुनि दीक्षा गुरु ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-


(16)संघ का सम्पर्क सुत्र ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌-