Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


ॐ ह्रीं जन्म-तप कल्याणक प्राप्ताय श्री विमलनाथ जिनेन्द्राय नमः |

आकाशचारण ऋद्धि

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आकाशचारण ऋद्धि
A supernatural power (of walking without touching land). जिस ऋद्धि के प्रभाव से साधु जीवों को बाधा न पहुंचे इस तरह चलते हुए भूमि से चार अंगुल ऊपर आकाश में गमन कर सकते हैं।