Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


डिप्लोमा इन जैनोलोजी कोर्स का अध्ययन परमपूज्य प्रज्ञाश्रमणी आर्यिका श्री चंदनामती माताजी द्वारा प्रातः 6 बजे से 7 बजे तक प्रतिदिन पारस चैनल के माध्यम से कराया जा रहा है, अतः आप सभी अध्ययन हेतु सुबह 6 से 7 बजे तक पारस चैनल अवश्य देखें|

आज्ञा सम्यक्त्वार्य

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आज्ञा सम्यक्त्वार्य
A type of right perception, who attain right perception by following the preaching of Lord Jinendra. आर्यों का एक प्रकार जो जिनेन्द्र भगवान के वचनों को ही आज्ञा मानकर सम्यग्दर्शन को प्राप्त करते हैं।