ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर, रविवार से ११ दिसंबर २०१६, रविवार तक प्रातः ६ बजे से ७ बजे तक सीधा प्रसारण होगा | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

आज का आनंद (स.पत्र)

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

विषय सूची

[सम्पादन]
सद्विचार

[सम्पादन]
प्रार्थना

"प्रार्थना संसार की सबसे बड़ी वह शक्ति है, जो इंसान को समस्या आने के पहले ही दे दी गई है |"

"प्रार्थना का असर किसी भी क्षण हो सकता है | विकट से विकट परिस्थिति में भी प्रार्थना करना ना भूलें, चाहे प्रार्थना पूरी होने के कोई भी आसार नजर न आ रहे हों |"

"जिस प्रकार आकाश से गिरा हुआ जल, किसी न किसी रास्ते से होकर समुद्र में पहुँच ही जाता है. उसी प्रकार निःस्वार्थ भाव से की गई सेवा और प्रार्थना, किसी न किसी मार्ग से ईश्वर तक पहुँच ही जाती है."

[सम्पादन]
नजरअंदाज

नजरअंदाज करो उन लोगों को जो आपकी पीठ पीछे, आपके बारे में बातें करते है...क्योंकि वे उसी जगह हैं, जहां वे रहने लायक हैं.

[सम्पादन]
दर्द

सबसे ज्यादा दर्द वो गलतियां देती हैं, जिनकी माफ़ी मांगने का वक्त भी गुजर चुका होता है.

[सम्पादन]
प्रभु की वाणी

"दवा जेब में नहीं,..परन्तु शरीर में जाए तो असर करे वैसे ही प्रभु की वाणी कान में नहीं...ह्रदय में उतरे तो कल्याण करे."

[सम्पादन]
खुशियाँ

"किसी ने खूब सही कहा है खुशियाँ आयें जिंदगी में तो चख लेना मिठाई समझ कर,,जब गम आये तो वो भी कभी खा लेना दवाई समझ कर"

खुशी उन्हें नहीं मिलती, जो जिंदगी को अपनी शर्तों पर जीते हैं.. बल्कि खुशी उन्हें मिलती है, जो दूसरों की खुशी के लिए अपनी जिंदगी की शर्तों को बदल देते हैं.

[सम्पादन]
विश्वास

कोयल अपनी भाषा बोलती है, इसलिए आजाद रहती है. किन्तु तोता दूसरे की भाषा बोलता है, इसलिए पिंजरे में जीवन भर गुलाम रहता है. अपनी भाषा, अपने विचार और अपने आप पर विश्वास करें..!

[सम्पादन]
जीवन का एक महत्वपूर्ण सत्य

गलत होकर खुद को सही साबित करना उतना मुश्किल नहीं जितना सही होकर खुद को सही साबित करना है.

बड़ों से बात करने का तरीका आपकी तमीज बताता है...और छोटों से बात करने का तरीका आपकी परवरिश बताता है.

[सम्पादन]
क्षमा

अहंकारी व्यक्ति कभी क्षमा नहीं मांग सकता, कमजोर व्यक्ति कभी क्षमा नहीं कर सकता...! क्षमा माँगना नम्र व्यक्ति का गुण है, और क्षमा करना शक्तिशाली व्यक्ति का गुण है..

[सम्पादन]
दुआयें

जब आप धन कमाते हैं तो घर में चीजें आती हैं, लेकिन जब आप किसी की दुआयें कमाते हैं तो धन के साथ खुशी, सेहत और प्यार भी आता है...

[सम्पादन]
याद

संसार में रहते हुए प्रभु की याद आती है तो कोई बाधा नहीं, प्रभु भक्ति में संसार की याद नहीं आनी चाहिए.

[सम्पादन]
खोट

मनुष्य में सुंदरता की खोट हो तो अच्छे स्वभाव से पूरी की जा सकती है परन्तु अच्छे स्वभाव की खोट सुंदरता से नहीं पूरी की जा सकती है..!

[सम्पादन]
सदैव हँसते रहें

ईश्वर टूटी हुई चीजों का इस्तेमाल कितनी ख़ूबसूरती से करता है. जैसे... बादल टूटने पानी की फुहार आती है, मिट्टी टूटने पर खेत का रूप लेती है, फल के टूटने पर बीज अंकुरित हो जाता है, और बीज टूटने पर एक नए पौधे की संरचना होती है, इसीलिए जब आप खुद को टूटा हुआ महसूस करें तो समझ लीजिए ईश्वर आपका इस्तेमाल किसी बड़ी उपयोगिता के लिए करना चाहता है. इसीलिए सदैव प्रसन्न रहें और हँसते रहें |

[सम्पादन]
अपनों को तरसते हैं

हैं जिनके पास अपने, वो अपनों से झगड़ते हैं | नहीं जिनका कोई अपना, वो अपनों के लिए तरसते हैं |

[सम्पादन]
पहचान सीरत से करो

चरण उनके पूजे जाते हैं, जिनके आचरण पूजने योग्य हों अगर इंसान की पहचान करनी हो तो सूरत से नहीं, सीरत से करो... क्योंकि सोना अक्सर लोहे की तिजोरी में ही रखा जाता है |

[सम्पादन]
रिश्ते दिल से बनते हैं

रिश्ते दिल से बनते हैं बातों से नहीं, कुछ लोग बहुत सी बातों के बाद भी अपने नहीं होते और कुछ शांत रहकर भी अपने बन जाते हैं |

[सम्पादन]
जिंदगी लिहाज नहीं करती

जिंदगी जब देती है, तो एहसान नहीं करती और जब लेती है तो, लिहाज नहीं करती |

[सम्पादन]
दुनिया में दो पौधे

दुनिया में दो पौधे ऐसे हैं, जो कभी मुरझाते नहींऔर अगर मुरझा गए तो उसका कोई इलाज नहीं | पहला निःस्वार्थ प्रेम और दूसरा अटूट विश्वास |

[सम्पादन]
मोती कीमती होता है

किसी अच्छे इंसान से कोई गलती हो तो सहन कर लो क्योंकि मोती अगर कचरे में भी गिर जाए तो भी कीमती रहता है |

[सम्पादन]
समय और समझ

बहुत खुशकिस्मत होते हैं वे लोग जिन्हें समय और समझ एक साथ मिलती है | क्योंकि अक्सर समय पर समझ नहीं आती और जब समझ आती है तो समय हाथ से निकल जाता है |

[सम्पादन]
आपकी मंजिल

जो पत्थर आपकी मंजिल में बाधा डालता हो ! और आपको उसी पत्थर को मंजिल की सीढ़ी बनाना आ जाए तो वो ही पत्थर आपको आपकी मंजिल तक पहुंचा देगा |

[सम्पादन]
शान्ति से जीने के दो तरीके

जिंदगी में शान्ति से जीने के दो ही तरीके हैं -

१ माफ कर दो उनको जिनको तुम भूल नहीं सकते |

२.भूल जाओ उनको जिनको तुम माफ नहीं कर सकते |