ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर, रविवार से ११ दिसंबर २०१६, रविवार तक प्रातः ६ बजे से ७ बजे तक सीधा प्रसारण होगा | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

आप भी जूस के साथ दवाई लेते हैंं तो सावधान हो जाइये

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

[सम्पादन]
आप भी जूस के साथ दवाई लेते हैं तो सावधान हो जाइए

Davai.jpg
Efsef.jpg
Efsef.jpg

दवा का स्वाद भला किसे पंसद है ? इसकी कड़वाहट कम करने के लिए कुछ लोग शक्कर के साथ दवा खाते हैं तो कुछ दूध के साथ, कई लोग तो दवा घूंटने के लिए फलों के जूस का भी सहारा लेते हैं, लेकिन वे इस बात से अनजान हैं कि फलों, खासकर मौसमी फलों के जूस के साथ दवा खाना घातक साबित हो सकता है। कैनेडियन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, मौसमी में मौजूद रसायन आंत और लिवर में दवाइयों के घुलने की प्रक्रिया बाधित करते हैं, इससे शरीर दवा पचा नहीं पाता और खून में ज्यादा खुराक में दवा मिल जाती है, विशेषज्ञों के मुताबिक दवा की अतिरिक्त खुराक पेट में ब्लीडिंग, हृदयगति बढ़ने और किडनी खराब होने का कारण बन सकती है। कुछ मामलों में तो व्यक्ति की जान भी सकती है, ओटावा स्थित लॉसन हेल्थ रिसर्च इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं ने इस अध्ययन को अंजाम दिया था, उन्होंने बताया कि मौसमी के जूस के साथ जिन दवाओं का मेल घातक साबित हो सकता है, उनमें ब्लड प्रेशर, कैंसर और कोलेस्ट्राल की मात्रा घटाने वाली दवाएं शामिल हैं, अंग प्रत्यारोपण के बाद प्रतिरोधी तंत्र को इसे नकारने से रोकने वाली दवाएं भी घातक साबित हो सकती हैं। प्रमुख शोधकर्ता डॉक्टर डेविड बेली ने बताया कि मौसमी में मौजूद फ्यूरावूâमािंरस आंत और लिवर में एंजाइम का उत्पादन बाधिक करते हैं, खाद्य पदार्थों को तोड़ने और दवाओं के घुलने के लिए एंजाइम काफी जरूरी है।

आज का आनंद २९ जुलाई २०१६