ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्ज एप पर मेसेज करें|

पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माता जी के द्वारा अागमोक्त मंगल प्रवचन एवं मुंबई चातुर्मास में हो रहे विविध कार्यक्रम के दृश्य प्रतिदिन देखे - पारस चैनल पर प्रातः 6 बजे से 7 बजे (सीधा प्रसारण)एवं रात्रि 9 से 9:20 बजे तक|
इस मंत्र की जाप्य दो दिन 16 और 17 तारीख को करे |

सोलहकारण व्रत की जाप्य - "ऊँ ह्रीं अर्हं संवेग भावनायै नमः"

आहारक शरीर अंगोपांग

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आहारक शरीर अंगोपांग
Translocational body (which emanates from the body of a saint at the sixth stage of spiritual development i.e. 6th Gunsthan). वह नामकर्म जिसके उदय से मुनियों के मस्तक से जो आहारक शरीर निकलता है उसमें अंगोंपांग होते हैं, उसे आहारक शरीर आंगोंपांग कहते हैं।