ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर २०१६- रविवार से सीधा प्रसारण चल रहा है | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

एसिडिटी से कुदरती रूप से छुटकारा दिलाये अजवायन

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

विषय सूची

[सम्पादन]
एसिडिटी से कुदरती रूप से छुटकारा दिलाये अजवायन

45q6bh.jpg
45q6bh.jpg

[सम्पादन] पेट में गैस बनना यानी एसिडिटी एक आम समस्या है।

Acidity.jpg
Ajvine.jpg

एसिडिटी की समस्या बहुत आम है और यह समस्या सभी को होती ही है। कुछ लोग तो इससे बहुत परेशान भी रहते हैं। इसका कारण है अनियमित भोजन, तेल और मसालेदार खाने का अधिक सेवन। जो लोग नशे में लत होते हैं उनको भी यह समस्या होती है। अगर गैस या एसिडिटी है तो कभी भी व्यक्ति ब्लडप्रेशर या शुगर की बीमारी से ग्रस्त हो सकता है। ऐसे में व्यक्ति को उपचार के लिए कुदरती उपाय आजमाने चाहिए। अजवाइन सबके घर में आसानी से उपलब्ध होती है और यह तुरंत फायदा भी करती है। तो इस लेख में विस्तार से जानिये कैसे अजवाइन एसिडिटी से कुदरती रूप से छुटकारा दिलाती है।

[सम्पादन] क्या है एसिडिटी

अनियमित आहार, तेल, मसालेदार खाने से यह होती है।
एसिडिटी यानी पेट में गैस बनना एक आम समस्या है। इसके कारण पेट में दर्द, जलन, गैस बनना, डकारें आना, छाती में जलन, खाने के बाद पेट भारी लगना, खाना पचने में समस्या, भूख कम लगना, पेट भारी रहना और पेट साफ न होने जैसी समस्यायें एसिडिटी के कारण होती हैं। शराब पीने से, मिर्च-मसाला, तली-भुनी चीजें ज्यादा खाने से, राजमा, छोले, लोबिया, मोठ, उड़द की दाल के अलावा कोल्ड ड्रिंक के सेवन से पेट में एसिडिटी की समस्या अधिक होती है।
बार-बार अपानवायु उत्सर्जित होना, पेट से बदबूदार गैस निकलना, डकारें आना, पेट में गुड़गुड़ाहट होना जैसी समस्यायें इसके मुख्य लक्षण हैं। जिनकी पाचन शक्ति अक्सर खराब रहती है और जो प्राय: कब्ज के शिकार रहते हैं, उन लोगों को गैस की समस्या हो जाती है। गैस की समस्या से रक्त संचार व आंतों की गतिविधि पर भी बुरा असर पड़ता है। इसके कारण ब्लडप्रेशर या आंतों की बीमारियां भी शुरू हो जाती हैं।

[सम्पादन] अजवाइन है फायदेमंद

आजवाइन में मौजूद थिम्बोल केमिकल इसे दूर करता है।
एसिडिटी की समस्या से बचाव के लिए अजवाइन का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है। अजवाइन को कैरम सीड भी बोला जाता है, इसमें थिम्बोल नामक केमिकल होता है जो पाचन क्रिया को सुचारु करता है जिससे एसिडिटी की समस्या नहीं होती है। इसके अलावा यह केमिकल गैस बनने की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है। यानी आपको कभी भी गैस बनने की शिकायत नहीं होगी।

[सम्पादन] कैसे करें प्रयोग

अजवाइन को काले नमक के साथ चबाकर खाइये।
एसिडिटी की समस्या होने पर अजवाइन को चबाकर खाएं और उसके बाद एक कप गर्म पानी पी लें, एसिडिटी की समस्या दूर हो जायेगी।
पेट में कीड़े हैं तो काले नमक के साथ अजवाइन खाएं, लीवर की परेशानी है तो 3 ग्राम अजवाइन और आधा ग्राम नमक भोजन के बाद लेने से फायदा होगा।

पाचन तंत्र में किसी भी तरह की गड़बड़ी होने पर मट्ठे के साथ अजवाइन लेने से आराम मिलता है।

गैस की समस्‍या के लिए 1-2 ग्राम खुरसानी अजवाइन में गुड़ मिलाकर इसकी गोलियां बना कर खाएं, इससे तुरंत राहत मिलेगी।

पेट में गैस होने पर हल्दी, अजवाइन और एक चुटकी काला नमक लें, इससे भी बहुत जल्दी आराम मिलता है।

एसिडिटी की तकलीफ है तो थोड़ा-थोड़ा अजवाइन और जीरा को एक साथ भून लें, इसे पानी में उबाल कर छान लें। छने हुए पानी में चीनी मिलाकर पीने से एसिडिटी की समस्या दूर होगी।