ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर, रविवार से ११ दिसंबर २०१६, रविवार तक प्रातः ६ बजे से ७ बजे तक सीधा प्रसारण होगा | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

ऑर्गेनाइज कीजिए अपना घर

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


[सम्पादन]
ऑर्गेनाइज कीजिए अपना घर

Flowers 61.jpg
Flowers 61.jpg

क्या अक्सर ऐसा होता है कि ऑफिस के लिए तैयार होते वक्त शर्ट से मैचिंग पैन्ट नहीं मिलती या साड़ी का मैचिंग ब्लाउज नहीं मिलता ? या जब फोन से बात करते समय कुछ लिखना हो तो पेन जगह पर नहीं मिलता ? या दफ्तर में जिस फाइल का काम हो, उसे ढूँढने में आधा दिन बीत जाता है ?

घर में फैले हुए कपड़े, पसारी हुई किताबें, जूते, फाइलें, बर्तन इन सबसे कभी-कभी घबराहट होने लगती है। जहाँ नजर डालो वहां पसारा देखकर तनाव होता है और सही समय पर सही चीज हाथ में न आने से काम में रुकावट, मूड खराब, गुस्सा यह श्रृंखला चलती है। लेकिन यह तो सोचिए कि इतना अटाला फैलता क्यों है और क्या करने से यह ढेरों सामान व्यवस्थित रुप से जम सकता है ।

आइए, हम इसके कुछ नियम समझते हैं —

टालने की आदत टालिए- हम रोज यही कहते हैं कि आज के बदले कल कर लेंगें । मैं कल फाइलें जमा दूँगा या कल पूरी अलमारी व्यवस्थित जमा दूँगी, वगैरह.......। आज का काम कल पर टालने से समय की बचत होती ही नहीं बल्कि कल के लिए कामों का अंबार खड़ा होता है ।

घर सफाई के सूत्र- सफाई का फायदा क्या होगा, यह अपने दिमाग में अच्छी तरह तय करें। हम पेपर्स क्यों उठाकर रखना चाहते हैं ? इसलिए क्योंकि अगली बार टेलीफोन या बिजली का बिल समय पर न ढूँढ पाने से जो अतिरिक्त पैसे भरने पड़ते हैं, वे नहीं भरने पड़ें । अब यह देखिए कि जो चीजें बिखरी हैं उसमें से क्या रखना है और क्या फेंकना है, या तो रखें या फेंक दें।

आर्गेनाईज घर से फायदा ही फायदा है। हमें नीद भी अच्छी आयेगी । हमारा मूड़ अच्छा रहेगा । रिश्तों में ज्यादा मजबूती आएगी । घर—आफिस का मैनेजमेंट आसान होगा। सभी बिलों का सही समय पर भुगतान होगा ।