ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर, रविवार से ११ दिसंबर २०१६, रविवार तक प्रातः ६ बजे से ७ बजे तक सीधा प्रसारण होगा | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

औषधीय गुणों से भरपूर होते है ,अनार के फूल

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

[सम्पादन]
औषधीय गुणों से भरपूर होते है ,अनार के फूल

अनार फूल.jpg

आदिवासियों कि मान्यता के अनुसार जिन महिलाओ को मातृत्व प्राप्ति कि इछा हो ,अनार कि कलिया उनके लिए वरदान कि तरहके है ,इन आदिवासी के अनुसार अनार कि ताज़ी ,कोमल कलियाँ पीसकर पानी में मिलाकार ,छानकर पीने से महिलाओ में गर्भ धारण कि क्षमता में वृधि होती है लगभग १० ग्राम अनार के फूलो का आधा लीटर पानी में उबाले, जब यह एक चौथाई शेष बचे टो इस काडे से कुल्ले करने से मुह के छालो में लाभ होता है | पाताल कोट के आदिवासी हर्बल जानकारों के अनुसार अनार के फूल छाया में सुखाकर बारिक पीस लिया जाए और इसे मंजन कि तरह दिन में दो से तीन बार इस्तेमाल किया जाए तो दातो से खून आना बंद होकर दात मजबूत हो जाते है , डांग , गुजरात के आदिवासी हर्बल जानकारों के अनुसार अनार के फूलो को पीसकर शरीर के जले हुए भाग पर लगाने से जलन अति शीघ्र कम हो जाती है और दर्द में भी आराम मिलता है |