Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


21 फरवरी को मध्यान्ह 1 बजे लखनऊ विश्वविद्यालय में पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी का मंगल प्रवचन।

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें पू.श्री ज्ञानमती माताजी एवं श्री चंदनामती माताजी के प्रवचन |

कंचन सागर जी महाराज

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


कंचन सागर जी महाराज का संक्षिप्त परिचय

Bhi467.jpg


(१) पूज्यश्री का नाम - आचार्य मुनि श्री कंचन सागर जी महाराज


(२) गृहस्थावस्था नाम- श्री जिनेश कुमार जैन


(३) जन्मस्थान - घनौरा, साजपानी (सिवनी) म. प्र.


(४) जन्मतिथि व दिनाँक - १५ मार्च, १९४५


(५) जाति - परवार जैन


(६) गोत्र - घनामूल वात्सल


(७)(A) माता का नाम स्व. श्रीमती ललतीबाई जैन

(B) पिता का नाम स्व. श्रभ् खूबचंद जैन


(८) लौकिक शिक्षा - ११ वीं कक्षा पास


(९) आजीवन ब्रह्मचर्य व्रत/प्रतिमा-व्रत ग्रहण करने का विवरण -१९८३ में दर्शन प्रतिमा, घन्सौर पाश्र्वनाथ मन्दिर


द्वारा - १०८ आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज


(१०) मुनि दीक्षा तिथि, दिनाँक व स्थान - २४ दिसम्बर, २००९ दिग्रज, (महा.)

मुनि दीक्षा गुरु - समाधिस्त १०८ श्री आचार्य कनकसागर जी महाराज



(११)आचार्य/उपाध्याय/गणिनी आदि पदारोहण तिथि व स्थान - आचार्य पद ७ फरवरी, रामगढ़ राजस्थान समाजा के सानिध्य में गुरु के आज्ञानुसार


पदारोहणकर्ता - १०८ आचार्य श्री ज्ञानभूषण जी महाराज


(१२)साहित्यिक कृतित्व -. स्वाध्याय जाप ध्यान आदि करना


(१३)शिष्यों की संख्या -

'आचार्य की संख्या-
उपाध्याय की संख्या-
मुनि की संख्या-
गणिनी की संख्या-
आर्यिका की संख्या-
ऐलक की संख्या-
क्षुल्लक की संख्या-.
क्षुल्लिका की संख्या-
ब्रह्मचारी भाई की संख्या-
ब्रह्मचारिणी बहनें की संख्या-
अन्य संख्या-


(१४)अन्य विशेष जानकारी - क्षुल्लक श्री भाग्यभूषण जी महाराज १०८ आचार्य श्री ज्ञानभूषण जी महाराज द्वारा दीक्षित


(१५)संघ का संपर्क़ सूत्र (मोबाइल, फोन, ईमेल) - ०९९८२७९४८९०