Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


गणिनीप्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी ससंघ का मंगल विहार जन्मभूमि टिकैतनगर से हस्तिनापुर १८ नवंबर को

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें जिनाभिषेक एवं शांतिधारा पुन: ज्ञानमती माताजी - चंदनामती माताजी के प्रवचन ।

11. चक्रवर्ती सनत्कुमार का संक्षिप्त परिचय

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चक्रवर्ती सनत्कुमार का संक्षिप्त परिचय

जन्मभूमि- हस्तिनापुर नगर

लौकिकपद- चतुर्थ चक्रवर्ती,कामदेव

आयु- तीन लाख वर्ष

कुमार काल- ५० हजार वर्ष

मांडलिक काल- ५० हजार वर्ष

दिग्विजय काल - १० हजार वर्ष

चक्रीकाल- ९० हजार वर्ष

वैराग्यनिमित्त- देवों द्वारा रूप की परीक्षा में गर्व हानि

दीक्षा- दैगंबरी दीक्षा

परीषहजय- भयंकर कुष्ठ आदि रोगों की उद्भूति, देवों द्वारा परीक्षा में शरीर के प्रति नि:स्पृहता, धर्म के प्रभाव से रोगों का अभाव

संयमकाल- एक लाख वर्ष

पारमार्थिकपद - कैवल्य प्राप्ति, मुक्तिपद लाभ

समय- पन्द्रहवें तीर्थंकर धर्मनाथ स्वामी के तीर्थ में।