Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


गणिनीप्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी ससंघ का मंगल विहार जन्मभूमि टिकैतनगर से हस्तिनापुर १८ नवंबर को

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें जिनाभिषेक एवं शांतिधारा पुन: ज्ञानमती माताजी - चंदनामती माताजी के प्रवचन ।

चतुर्गति

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चतुर्गति
Four body forms or destinities; Hell, Animals and Plants, Human beings and Deities.

चार गतियाँ ; नरक , तिर्यंच , मनुष्य व देवगति ।