Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


गणिनीप्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी ससंघ का मंगल विहार शाश्वत तीर्थ अयोध्या जी से जन्मभूमि टिकैतनगर की ओर |

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें जिनाभिषेक एवं शांतिधारा पुन: ज्ञानमती माताजी - चंदनामती माताजी के प्रवचन ।

चन्द्रचूल

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चन्द्रचूल
A chief disciple of Lord Rishabhdeva.

भगवान ऋषभदेव के ८४ गणधरों में एक गणधर ।