जिनधर्म

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जिनधर्म- जिनेन्द्र भगवान के द्वारा कहा गया धर्म जिनधर्म है| पूज्य गणिनी श्री ज्ञानमती माताजी ने नवदेवता पूजा की जयमाला में लिखा है -

जिनधर्म चक्र सर्वदा चलता ही रहेगा| जो इसकी शरण ले वो सुलझता ही रहेगा|