ज्ञानियों का कहना है कि संयम को सभी पालना

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ज्ञानियों का कहना

Bahubali.JPG

तर्ज—सावनी गीत......

ज्ञानियों का कहना है कि संयम को सभी पालना।। टेक.।।

बहु दु:ख पाया तूने कर्मों के चक्र से, हाँ कर्मों के चक्र से।।
इनसे यदि बचना है तो संयम को सभी पालना।।१।।

कई बार सहे तूने नरकों के दु:ख हैं-हाँ नरकों के दु:ख हैं।
इनसे यदि बचना है तो संयम को सभी पालना।।२।।

हाथी घोड़ा बैल बना पशुओं की योनि में-हाँ पशुओं की योनि में।
इनसे यदि बचना है तो संयम को सभी पालना।।३।।

भोगों में ही फूल रहा, देवता की योनि में-हाँ देवता की योनि में।
भोगों में न रमना है तो संयम को सभी पालना।।४।।

पुण्य उदय आ गया तो मानुष गति मिल गई-हाँ मानुष गति मिल गई।
इनको सफल करना है तो संयम को सभी पालना।।५।।

हिंसा झूठ चोरी आदि पापों को त्याग दो-हाँ पापों को त्याग दो।
मुक्ति यदि वरना है तो संयम को सभी पालना।।६।।

‘चंदना’ चतुर्गति के दुखों को न सह सकूँ-हाँ दुखों को न सह सकूँ।।
पंचमगति वरना है तो संयम को सभी पालना।।७।।