तीर्थंकर श्री महावीर विश्वविद्यालय परिसर न्यारा

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तीर्थंकर श्री महावीर विश्वविद्यालय


तर्ज-जहाँ डाल-डाल पर सोने की........

तीर्थंकर श्री महावीर विश्वविद्यालय परिसर न्यारा,
यहाँ बना जिनालय प्यारा।।टेक.।।

जिनशासन के चौबिसवें जिनवर महावीर कहलाए।
जिनके सर्वोदय शासन में, हर जीव शांति-सुख पाए।।हर.....
उन वीर की जय जयकारों से गूंजा धरती नभ सारा,
यहाँ बना जिनालय प्यारा।।१।।

श्री ज्ञानमती माताजी का प्रेरक आशीष मिला है।
जिनबिम्ब विराजित करने में उनका सानिध्य मिला है।।उनका....
सोने में सुगंधी के समान उत्सव बन गया निराला,
यहाँ बना जिनालय प्यारा।।२।।

जैसे भोजन हर जनमानस के तन को पुष्ट बनाता।
प्रभु दर्शन भी ‘‘चंदनामती’’, आत्मा को स्वस्थ बनाता।।
जीवन्त रहे युग तक टी.एम.यू. का नाम निराला,
यहाँ बना जिनालय प्यारा।।३।।