Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


Diya.gifमहामहिम राष्ट्रपति श्री रामनाथ जी कोविंद का विश्वशांति अहिंसा सम्मलेन के उद्घाटन हेतु मंगल आगमन 22 अक्टूबर 2018 को ऋषभदेवपुरम में होगा |Diya.gif

Diya.gif24 अक्टूबर 2018 को परम पूज्य गणिनी आर्यिकाश्री ज्ञानमती माताजी का 85वां जन्मदिन एवं 66वां संयम दिवस मनाया जाएगा ।Diya.gif

तीर्थक्षेत्र से सम्बंधित भजन

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सबसे बडी मूर्ति-भजन नं.१

तीर्थ प्रयाग में देखो-भजन नं.२

महाकुम्भ का पर्व महान चलो सब प्रयाग चलो -भजन नं.३

ऊँचा सा पहाड़ है अष्टापद गिरिराज-भजन नं.४

कैलाश गिरी पर मस्ताकभिषेक-भजन नं.५

मुझे पावापुर जाना है मुझे जल मंदिर जाना है-भजन नं.६

चलो वाराणसी चलना है वाहन पर उत्सव करना है-भजन नं.७

मुनि सुव्रत की जन्मभूमि से-भजन नं.८

चलो कुण्डलपुर चलना है वीर को वंदन-भजन नं.९

तीरथ चलो रे तीरथ चलो रे सब नर नारी -भजन नं.१०

कैलाश पर्वत महान देखो-भजन नं.११

कैलाश पर्वत की जय बोलो -भजन नं.१२

कैलाश गिरी पर मस्ताकभिषेक-भजन नं.१३

ऊँची ऊँची प्रतिमा बनायेंगे मांगीतुंगी गिरी पर-भजन नं.१४

गंगा के तत् पर बसी हुई हस्तिनापुर नगरीय -भजन नं.१५

शाश्वत है तीर्थ मेरा सम्मेद गिरी नाम है-भजन नं.१६

कैलाश पर्वत पर लाडू चढ़ना है-भजन नं.१७

अष्टापद से मोक्ष पधारे अवध के राजदुलारे-भजन नं.१८

हस्तिनापुर की महिमा...-भजन नं.१९

शिरडी के पारस प्रभु-भजन नं.२०

जम्बूद्वीप हस्तिनापुर से-भजन नं.२१

तीर्थंकर कि जन्मभूमि-भजन नं.२२

पुष्पगिरी गिरी महोत्सव की ये बेला

चलो पुष्पगिरी चलो

पौष का महीना(पुष्पगिरी)

सम्मेद शिखर वन्दना - रूपेश