देखो महामंत्र ही सब मंत्रो का सार है

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

देखो महामंत्र ही सब मंत्रो का सार है


तर्ज - आज कल तेरे मेरे .................

देखो महामंत्र ही सब मंत्रो का सार है ,
माँ जिनवाणी का भी यही मूल आधार है |

जिससे तन मन जगे , रोम रोम में रंगे
महके तन मन जगे सुबह शाम जो जपे
महके तन मन .......|
जिसने तार दिया लाखो को वह नवकार है
माँ जिनवाणी का भी यही मूल आधार है ||१||

अरिहंतो को सिद्धो को नमन करे ,
करके ध्यानत्व कर्मो का हनन करे
करकर ध्यांनत्व .......
यह तो वही वर्ज जो सबका केवलज्ञान है
माँ जिनवाणी का भी यही मूल आधार है ||२||

देखो महामंत्र ही सब मंत्रो का सार है ,
माँ जिनवाणी का भी यही मूल आधार है |