मंत्रो में प्यारा मंत्र नवकार

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मंत्रो में प्यारा मंत्र नवकार


मंत्रो में प्यारा है मंत्र नवकार , जपते रहो रे नर नारी ,
नैया लाखो की हो गयी पार , जपते रहो रे नर नारी |
मंत्रो में प्यारा .............
सीता सती ने जो ध्यान किया , महामंत्र का जब गुणगान किया
शीतल हुई पल में अग्नि की ज्वाला , कमलासन निर्मित हुआ था निराला
गूंजी सीता की जय जय कार , जपते रहो रे नर नारी ||१||

मंत्रो में प्यारा है मंत्र नवकार , जपते रहो रे नर नारी ,
नैया लाखो की हो गयी पार , जपते रहो रे नर नारी |
मंत्रो में प्यारा .............
चंदना का भाग्य जगा , चीर द्रोपदी का स्वयं वर गया
सोमा ने जपा जो मंत्रो को , हार रत्न का विषधर बन गया
अंजन चोर को भी दीना तार , जपते रहो रे नर नारी ||२||

मंत्रो में प्यारा है मंत्र नवकार , जपते रहो रे नर नारी ,
नैया लाखो की हो गयी पार , जपते रहो रे नर नारी |
मंत्रो में प्यारा .............
जो भी करे जाप नवकार का, पाते है हर सुख वो संसार का
शक्ति है इस मंत्र की सबसे बड़के, पल में बने बिगड़ी बात जिसे जपकर
ये तो है जिनवानी का आधार , जपते रहो रे नर नारी ||३||

मंत्रो में प्यारा है मंत्र नवकार , जपते रहो रे नर नारी ,
नैया लाखो की हो गयी पार , जपते रहो रे नर नारी |
मंत्रो में प्यारा .............