Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


पूज्य गणिनीप्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी ससंघ ऋषभदेवपुरम्-मांगीतुंगी में विराजमान है ।

प्रतिदिन पारस चैनल के सीधे प्रसारण पर प्रातः 6 से 7 बजे तक प.पू.आ. श्री चंदनामती माताजी द्वारा जैन धर्म का प्रारंभिक ज्ञान प्राप्त करें |

यहाँ उगते हैं एक दर्जन सूरज

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


यहाँ उगते हैं एक दर्जन सूरज

सभी जानते हैं कि हमारे आकाश में केवल एक ही सूर्य है। वही हर रोज पूरव से उगता है और पश्चिम में अस्त हो जाता है। लेकिन क्या कभी आपने एक साथ एक दर्जन सूरज उगते देखे हैं ? जाहिर है नहीं देखे होंगे। लेकिन धरती पर ही एक जगह ऐसी भी है, जहाँ आसमान में एक साथ दर्जन भर सूरज चमकते दिखाई देते हैं। यह जगह है ‘‘चीन की सिंग नाइंग चू।’’ यहाँ के लोग सुबह जब उठते हैं, तो उस वक्त आसमान में एक साथ एक दर्जन या इससे भी अधिक सूरज रोशनी बिखेर रहे होते हैं । दरअसल ये सूरज वास्तविक नहीं होते, बल्कि सिर्फ आंखों का वहम होता है। सुबह के वक्त यहाँ घने कोहरे की वजह से कुछ वक्त के लिए इतने सूरज दिखाई देते हैं।

युग प्रवाह,१६ से ३० नवम्बर २०१४