Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


21 फरवरी को मध्यान्ह 1 बजे लखनऊ विश्वविद्यालय में पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी का मंगल प्रवचन।

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें पू.श्री ज्ञानमती माताजी एवं श्री चंदनामती माताजी के प्रवचन |

शांतिनाथ की जन्मभूमि से गूंज उठी शहनाई

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


शांतिनाथ की जन्मभूमि से गूंज उठी शहनाई

12335.jpg
तर्ज—माई रे माई......
शांतिनाथ की जन्मभूमि से गूंज उठी शहनाई।

विश्वशांति के हेतु राष्ट्रपति जी ने ज्योति जलाई।।
जय हो विश्व धर्म की जय, अहिंसा परम धर्म की जय।। टेक.।।
दुनिया के सब देश चाहते, आपस में मैत्री हो।
फिर भी क्यों आतंक बढ़ा है, यह विचार गोष्ठी हो।।
धर्म अहिंसा ने ही देश को......
धर्म अहिंसा ने ही देश को, आजादी दिलवाई।
विश्वशांति के हेतु राष्ट्रपति जी ने ज्योति जलाई।।
जय हो विश्वधर्म की जय, अहिंसा परम धर्म की जय......।।१।।
जहाँ कभी प्रभु शांतिनाथ ने, छह खण्ड राज्य चलाया।
धर्मनीति अरु राजनीति का, सच्चा पाठ पढ़ाया।।
सत्य-न्याय की वही भूमि......
सत्य न्याय की वही भूमि, हस्तिनापुरी कहलाई।
विश्वशांति के हेतु राष्ट्रपति जी ने ज्योति जलाई।।
जय हो विश्वधर्म की जय, अहिंसा परम धर्म की जय..।।२।।
भारत की सर्वोच्च आर्यिका गणिनी ज्ञानमती माता।
राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने जोड़ा उनसे नाता।।
तभी ‘‘चंदनामती’’ देश ने......
तभी चंदनामती देश ने, नव उपलब्धी पाई।
विश्वशांति के हेतु राष्ट्रपति जी ने ज्योति जलाई।।
जय हो विश्वधर्म की जय, अहिंसा परमधर्म की जय...।।३।।

PF 13 00000000B364 VA0468 W1 PF.jpg