Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


21 फरवरी को मध्यान्ह 1 बजे लखनऊ विश्वविद्यालय में पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी का मंगल प्रवचन।

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें पू.श्री ज्ञानमती माताजी एवं श्री चंदनामती माताजी के प्रवचन |

शास्त्रों से लाईं जम्बूद्वीप को निकाल के

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

शास्त्रों से लाईं जम्बूद्वीप को निकाल के।

DSC 7505.JPG
Jain sastra.jpg
तर्ज—हम लाये हैं......

शास्त्रों से लाईं जम्बूद्वीप को निकाल के।
माँ ज्ञानमती की कृती है बेमिसाल ये।।टेक.।।
इतिहास के पन्नों में छिपी थी जो कहानी।
आचार्य उमास्वामि यतीवृषभ की वाणी।।
भूगोल वो साकार हुआ वर्तमान में।
माँ ज्ञानमती की कृती है बेमिसाल ये।।१।।
उपजाऊ भूमि बीज को पाकर के खिल उठी।
तब हस्तिनापुर की धरा प्रसन्न हो उठी।।
छाई है सूर्य की तरह दुनिया के भाल पे।
माँ ज्ञानमती की कृती है बेमिसाल ये।।२।।
जिनवर के सिद्धकूट अठत्तर यहाँ बने।
देवों के भवन एक सौ तेइस भी हैं बने।।
इन सबमें जैनमूर्तियाँ विराजमान हैं।
माँ ज्ञानमती की कृती है बेमिसाल ये।।३।।
मेरू की सीढ़ियाँ सभी उपवन को दिखातीं।
पांडुकशिला प्रभु के न्हवन से पूज्य कहाती।।
चढ़ने से इस पे होती ना किंचित् थकान है।
माँ ज्ञानमती की कृती है बेमिसाल ये।।४।।
जब तक रहे आकाश में सूरज व चन्द्रमा।
जयशील हो तब तक ये जम्बूद्वीप ‘चंदना’।।
देता रहे भूगोल प्रेरणा त्रिकाल में।
माँ ज्ञानमती की कृती है बेमिसाल ये।।५।।

1.jpg