ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्ज एप पर मेसेज करें|

पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माता जी के द्वारा अागमोक्त मंगल प्रवचन एवं मुंबई चातुर्मास में हो रहे विविध कार्यक्रम के दृश्य प्रतिदिन देखे - पारस चैनल पर प्रातः 6 बजे से 7 बजे (सीधा प्रसारण)एवं रात्रि 9 से 9:20 बजे तक|
इस मंत्र की जाप्य दो दिन 20 और 21 तारीख को करे |

सोलहकारण व्रत की जाप्य - "ऊँ ह्रीं अर्हं शक्तितस्तप भावनायै नमः"

03.व्रत ग्रहण करने का संकल्प

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


व्रत ग्रहण करने का संकल्प

ॐ अद्य भगवतो महापुरुषस्य ब्रह्मणो मते मासानां मासोत्तममासे ..... मासे ..... पक्षे ..... तिथौ .....वासरे जम्बूद्वीपे भरतक्षेत्रे आर्यखण्डे भारतदेशे ..... प्रदेशे ..... नगरे एतत् अवसर्पिणीकालावसान चतुर्दश-प्राभृतमानित-सकललोकव्यवहारे श्री गौतमस्वामीश्रेणिकमहामंडलेश्वर-समाचरित-सन्मार्गावशेषे ..... वीरनिर्वाणसंवत्सरे अष्टमहाप्रातिहार्यादिशोभितश्रीमदर्हत्पर-मेश्वर प्रतिमासन्निधौ अहम् ..... व्रतस्य संकल्पं कारयामि।