ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर २०१६- रविवार से सीधा प्रसारण चल रहा है | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

04. नारी से लेकर दुःख तक

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


विषय सूची

[सम्पादन]
नारी

नारी तृप्ति का साधन नहीं, पुरुष की साधना है।
THE WOMAN
Business woman.jpg

THE WOMAN IS NOT A MEANS OF LUST AND
SATISFACTION BUT SHE IS THE IMAGE OF
DEVOTION.



[सम्पादन] चरित्र

प्यार का सीधा सम्बन्ध केवल चरित्र से है।
THE CHARACTER
LOVE IS DIRECTLY RELATED WITH THE
CHARACTER


[सम्पादन] इन्सान

इन्सान भगवान पैदा कर सकता है पर इन्सान भगवान

नहीं हो सकता ।
Logan-lerman-da-man-magazine-06.jpg

THE MAN
A MAN CAN CREATE A GOD BUT HE
CAN'T BE A GOD.


[सम्पादन] हृदय

शरीर में आत्मा का निवास तो है ही, किन्तु आत्मा व

शरीर के बीच प्यार भरे हृदय का होना मुश्किल है।
Heartdgjf+96.jpg

HEART
IT IS CERTAIN THAT THE SOUL DOES LIVE IN
THE BODY BUT IT IS HARD TO BECOME
SWEET HEART BETWEEN EVERY SOUL AND
EVERY BODY.


[सम्पादन] असम्भव

जहाँ तक मैं सोचता हूँ, प्यार की परिभाषा लिखने के लिए
आसमान का कागज व समुद्र की स्याही भी कम पड़ेगी।
IMPOSSIBLE
AS I THINK, TO WRITE THE DEFINATION OF
LOVE, THE SKY AS SHEET OF PAPER AND
OCEAN AS THE INK, WILL BE UNSUFFICIENT.



[सम्पादन] वक्त

जिन्दगी वक्त की रखैल है, और कुछ नहीं।
World-of-more-time.jpeg

TIME
LIFE IS A CONCUBINE OF THE TIME AND NOT
ANY MORE.



[सम्पादन] संयोग

संयोग हमारे भाग्य की हथेली की वह रेखा है, जिसे हम अनुभव
कर सकते हैं, पढ़ नहीं सकते।
THE CHANCE
THE CHANCE IS THAT LINE ON THE PALM OF
OUR FATE, WHICH WE CAN FEEL, BUT CAN
NOT SEE PROPERLY.



[सम्पादन] नींव

यह बात नींव पर निर्भर करती है कि मकान
कितने मंजिल का बनाया जाय।
THE PLINTH
THE NUMBER OF FLOORS OF A HOUSE
DEPENDS UPON ITS PLINTH.



[सम्पादन] आँख

जो भौतिक आँखे नहीं देख पातीं,उसे आत्मा की आँख

से ही देखा जा सकता है।
Eyes++96.jpg

EYES
WHICH CAN NOT BE SEEN BY THE PHYSICAL
EYES, CAN BE SEEN ONLY BY THE SPIRITUAL
EYES.



[सम्पादन] गति

जो अपने जीवन में धर्म, कर्म, चरित्र पर स्थिर है, वह हार
के द्वार पर भी गतिमान है।
DYNAMIC
A MAN, WHO IS STRICTLY ADHERED TO HIS
RELIGION, DUTIES AND CHARACTER, IS
DYNAMIC AT THE DOOR OF DEFEAT.



[सम्पादन] इतिहास

इतिहास वह बीता कल है, जिसे इसलिए याद रखा जाय
कि उसे दोहराया न जा सके।
HISTORY
HISTORY IS ONLY A DEAD YESTERDAY WHICH IS
REMEMBERED ONLY FOR THE ALERTNESS
THAT IT MAY NOT REPEAT.



[सम्पादन] भविष्य

भविष्य उस दिशा का नाम है, जिसके निशांत प्रहर में
भी हमें पूर्व और पश्चिम का बोध नहीं होता है।
FUTURE
FUTURE IS THE NAME OF THAT DIRECTION
WHERE EVEN IN THE SOLEMN HOURS. WE
CAN NOT LOCATE EAST OR WEST.



[सम्पादन] अहंकार

स्वाभिमान को अहंकार का समर्थन मिलते ही द्रवित होने
की बजाय, अभिमानित होने लगता है।
PROUD
SELFRESPECT, AS SOON AS IS SUPPORTED
BY PROUD, BECOMES RUSTY INSTEAD OF
GETTING MELTING POINT.



[सम्पादन] नींव का पत्थर

जो महल की वैभवता की ओर देख नहीं सकता, वह नींव
का पत्थर ही हो सकता है।
A STONE OF THE PLINTH
ONE WHO CAN NOT SEE THE GRANDEUR OF
A PALACE CHEERFULLY, CAN ONLY BE
A STONE OF THE PLINTH OF A PALACE.



[सम्पादन] आँसू

मेरी कलम से स्याही सूखती नहीं !शायद तुमने रोना

बन्द नहीं किया।
Tears++93.0m.jpg

TEARS
THE INK OF MY PEN IS NOT DRYING, PERHAPS
YOU DIDN'T STOP WEEPING.



[सम्पादन] परम्परा

आत्मा, परमात्मा की परम्परा है, मृत्यु जन्म है,
जन्म जीवन है।
THEORY OF UNIVERSE
SOUL IS THE IMAGE OF GOD. DEATH IS THE
BIRTH AND BIRTH IS LIFE.


[सम्पादन] पेट

व्यापार व्यवसाय वह क्रिया है, जहाँ मस्तिष्क हृदय में
बैठकर निर्देश देता है।
STOMACH
THE TRADE IS AN ACTIVITY IN WHICH THE
MIND INSTRUCTS SITTING IN THE STOMACH.



[सम्पादन] कला

परिश्रम व कला वह सहृदय क्रिया हैं, जहाँ मस्तिष्क हृदय

में बैठकर निर्देश ग्रहण करता है।
AG-art.jpg

ART
LABOUR AND ART IS SUCH A SITUATION
WHERE THE MIND GETS INSTRUCTIONS SITTING
IN THE HEART.



[सम्पादन] मधुवन

शान्त मन उस मधुवन का नाम है, जहाँ प्रियतमा का शासन
चलता हो। पूर्व में स्मृतियों की सुगन्ध का सबेरा हो और

पश्चिम में दो हृदय की एक लौ हो।
Sweet Garden.jpg

THE SWEET GARDEN
CALM MIND IS THE NAME OF THAT SWEET
GARDEN WHERE THERE IS THE KINGDOM OF
BELOVED THE FRAGRANCE OF MEMORIES
BRINGS THE DAWN IN THE EAST AND A
FLAME OF TWO UNITED HEARTS IN THE WEST.



[सम्पादन] पश्चाताप

पश्चाताप की एक बूँद हमारे उतने पापों को धो सकती

हैं, जितनी शरीर में रक्त की बूँदें हैं।
Man-praying.jpg

REPENTANCE
ONE DROP OR REPENTANCE CAN WASH AWAY
OUR AS MANY SINS AS THERE ARE NUMBER
OF DROPS OF BLOOD IN OUR BODT.



[सम्पादन] प्रयत्न

मैं स्वयं से कहता रहता हूँ कि भगवान से प्रार्थना करने
के बजाय, प्रयत्न ही करता रहूँ। क्योंकि प्रार्थना के समय
प्रयत्नों को नींद आने लगती है।
EFFORT
I TELL TO MYSELF THAT INSTEAD OF PRAYING
GOD, I MUST GO ON TRYING HARD BECAUSE
AT THE TIME OF PRAYER EFFORTS FALL
ASLEEP DEEPLY.



[सम्पादन] माँ

मैं नारी को पूजनीय मानकर ही सम्मान देता हूँ क्योंकि
मेरे मन ने यह मान लिया है कि सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड भी नारी
की नाभि से सूक्ष्म है। (माँ)
MOTHER
ICONSIDER THE WOMAN VERY GREAT, WORTH
WORSHIPPING AND RESPECT HER BECAUSE
MY HEART HAS ACCEPTED THAT THE WHOLE
OF UNIVERSE IS SMALLER THAN THE LAP OF
A WOMAN. (MOTHER)



[सम्पादन] क्रान्ति

जब जनतन्त्र की तलवार को एकतन्त्र का जंग लगने लगे,तब
तुरन्त ही क्रान्ति के लहू से इसे धो डालना चाहिए।
REVOLUTION
WHEN THE SWORD OF DEMOCRACY IS RULED
WITH THE RUST OF MONARCHY
THEN IT MUST BE AT ONCE WASHED AND
CLEARED UP WITH THE BLOOD OF
REVOLUTION.



[सम्पादन] विचार

जब कभी भी अव्यावहारिक विचार मेरी जिन्दगी को
सताने लगते हैं, तब सोचता हूँ,यूँ ही बैठे रहना भी
कोई जिन्दगी है।
THOUGHTS
WHENEVER UNPRACTICLE THOUGHTS GALLOP
AND PINCH MY LIFE, THEN I SIT SILENT AND
BEGIN TO THINK ``IS THIS SITTING IDLE CALLED
A LIFE.



[सम्पादन] आत्मा

अब मैं जान गया, जब तक आत्मा मरेगी नहीं,परमात्मा
जन्म नहीं लेगा।
CONCLUSION
NOW I CAME TO KNOW THAT GOD WILL NOT
TAKE BIRTH UNTIL SOUL IS NOT DEAD.



[सम्पादन] दु:ख

दु:ख जब आते हैं और उन्हें आना भी चाहिए,ताकि
मन में वे एक—दूसरे से मिलकर अनुभव के शरीर को

मजबूत कर सकें ।
Child with study of the difficulties.jpg

DIFFICULTIES
DIFFICULTIES ARISE FROM ALL SIDES AND
THEY MUST ARISE SO THAT THOSE TROUBLES,
ACQUAINTING WITH EACH OTHER, MAY
STRENGTHEN THE BODY EXPERIENCE.