ऊँ ह्रीं श्री ऋषभदेवाय नम:।

Whatsappicon.png
Whatsappicon.png
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें |


पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी द्वारा देश के समस्त जैन विद्वानों के लिए विशेष सैद्धांतिक विषयों पर ऋषभगिरि-मांगीतुंगी से विद्वत प्रशिक्षण शिविर का पारस चैनल पर ४ दिसंबर, रविवार से ११ दिसंबर २०१६, रविवार तक प्रातः ६ बजे से ७ बजे तक सीधा प्रसारण होगा | घर बैठे देखकर अवश्य ज्ञान लाभ लें |

06. जीवन से मेरा देश तक

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


विषय सूची

[सम्पादन]
जीवन

पापी संसार और पुण्य, प्राप्ति की कल्पना में जीना

ही जीवन है।
LIFE
IT IS THE LIFE TO LIVE IN THE IMAGE OF
SINFUL WORLD AND FINDING RIGHTEOUS.



[सम्पादन] हाथ

किसी हँसी की हत्या के पीछे मुस्कुराहट का हाथ
रहा होगा।

Hand99+.jpg

HAND
BEHIND THE MURDER OF A LAUGHTER, THERE
MUST BE THE HAND OF SMILE.

[सम्पादन] आत्महत्या

इन्सान को चाहिए कि वह अपनी जिन्दगी से समझौता करके
जिए, नहीं तो उसे आत्महत्या कर लेनी चाहिए।

Suicide hanging by captainbonedaddy.jpg

SUICIDE
A MAN MUST LIVE COMPROMISING WITH HIS
LIFE, OTHERWISE HE SHOULD COMMIT
SUICIDE.

[सम्पादन] सन्यास

सन्यास नाम है उस उपन्यास का, जिसकी कोई
कहानी नहीं होती।
THE SAINTLINESS
THE SAINTLINESS IS THE NAME OF THAT
NOVEL WHICH HAS'NT ITS STORY.



[सम्पादन] दस्तक

विश्वास ने दी दस्तक, भ्रम ने द्वार खोले। कौन था
वहाँ जो बोले, केवल मैं।
KNOCK
THE FAITH KNOCKED, THE CONFUSION
OPENED THE DOOR, WHO WAS THERE TO
SPEAK, NO ONE !



[सम्पादन] गुरू

भगवान और गुरु में अन्तर केवल इतना है,गुरु
सदृश्य हैं, भगवान अदृश्य हैं।
GURU
THE DIFFERENCE BETWEEN GOD AND
GURU IS THAT THE GURU IS VISIBLE AND
GOD IS INVISIBLE.



[सम्पादन] दण्ड

दण्ड गुनाहों के एहसास के लिए नहीं, बल्कि हृदय—परिवर्तन
के लिए दिया जाना चाहिए।
PUNISHMENT
PUNISHMENT MUST BE GIVEN TO CHANGE
THE HEART, NOT TO FEEL CRIMES.



[सम्पादन] यथार्थ

जिसने यथार्थ के धरातल पर जीना सीख लिया, वह तो
भूत—भविष्य ही नहीं बल्कि अपने अगले—पिछले जन्मों को
भी जान गया समझो।
REALISTIC
ONE WHO KNOWS HOW TO LIVE IN
REALISTIC, KNOWS NOT ONLY FUTURE BUT
KNOWS HIS PAST AGES ALSO.



[सम्पादन] चिकित्सक

चिकित्सक को भगवान का रूप कब माना जाए, जब वह बीमार
को ईश्वर का रूप समझकर अपनी सेवाएँ दे।
PHYSICIAN
A PHYSICIAN SHOULD BE CONSIDERED
GOD LIKE WHEN HE GIVES HIS SERVICES
TO A PATIENT CONSIDERING HIM GOD LIKE.

[सम्पादन] तलाश

मैं जब कभी भी एकान्त में बैठकर ईश्वर की तलाश
में निकलने को सोचने लगता हूँ—तो वह मुझे
सामने दिखाई देता है।
SEARCH OF GOD
WHEN EVER I THINK SITTING ALONE TO GO
IN SEARCH OF GOD, I LOOK HIM BEFORE
ME.



[सम्पादन] मेरी आँखें

हमारी आँखे जो देखती हैं कि उनके पास देने को कुछ
नहीं, दिगम्बर दिखाई देते हैं, पर हाँ, उन्हीं के पास हमें
देने के लिए सब कुछ होता है।
MY EYES
MY EYES WHAT EVER SEE THAT THEY
HAVE NOTHING TO GIVE, THEY LOOK
DIGAMBER, BUT, YES, ONLY THEY
HAVE ALL TO GIVE US.



[सम्पादन] वाद

क्या मैं एकवाद द्वैतवाद के मार्गों पर चलकर ईश्वर
के घर का रास्ता भूल गया हूँ ? नहीं।
THE WAY TO RELIGION
WHAT I, FOLLOWING THE ONE WAY TO
RELIGION, THE TWO WAYS TO RELIGION,
FORGET THE REAL PATH TO THE
GOD'S HOUSE ? NO.



[सम्पादन] धड़कन

हृदय की धड़कन ईश्वर के घर की घण्टियाँ हैं,
जो हमारे हृदय के द्वार पर बजती रहती हैं
और वह सुनता रहता है।

HEART BEATS
Heath beat.jpg

HEART BEATS ARE ONLY GOD'S BELLS
WHICH RING AT THE DOORS OF OUR
HEARTS AND HE HEARS THEM.



[सम्पादन] साधु-संत

साधु—संत, खासकर दिगम्बर जैन सन्त इस धरा पर
अवतरित नहीं होते, तो सनातन धर्म—वृक्ष कब से
सूख गया होता।
SAINTS
SAINTS, ESPECIALLY DIGAMBER JAIN SAINTS,
IF THEY HAD NOT TAKE BIRTH ON THIS EARTH,
THE SANATAN DHARM TREE WOULD HAVE
BEEN DRIED VERY BEFORE.



[सम्पादन] विश्वगुरु

इस धरा पर मेरा देश ही विश्वगुरु था, विश्व—गुरु है
और विश्व—गुरु ही कहलाएगा, जिस पर हमें गर्व है।
VISHVE GURU
ON THIS EARTH ONLY MY COUNTRY WAS
VISHVA GURU VERY BEFORE, ONLY SHE IS
VISHVA GURU AT PRESENT AND ONLY SHE
WILL BE CALLED VISHVA GURU IN
FUTURE, WE ALL ARE PROUD OF HER.



[सम्पादन] मेरा देश

यदि मेरा अगला जन्म भारत देश में हुआ, तो मुझे मोक्ष के लिए
तप, जप,त्याग की जरूरत नहीं होगी।

MY COUNTRY
Indian-flag-24 country.jpg

IF I BORN AGAIN IN INDIA, I WILL NOT
NEED ADORATION, DEVOTION FOR MY DIVINITY
(MOKSH).