Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|

प्रतिदिन पारस चैनल पर 6.00 बजे सुबह देखें पूज्य गणिनी प्रमुख आर्यिका श्री ज्ञानमती माताजी के लाइव प्रवचन

पूज्य गणिनी ज्ञानमती माताजी ससंघ पोदनपुर बोरीवली में विराजमान है।

08.नवग्रहशांति मंत्र

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


नवग्रहशांति मंत्र

१. ॐ ह्रीं अर्हं सूर्यग्रहारिष्टनिवारक-श्री पद्मप्रभजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

२. ॐ ह्रीं सोमग्रहारिष्टनिवारक-श्री चन्द्रप्रभजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

३. ॐ ह्रीं मंगलग्रहारिष्टनिवारक-श्री वासुपूज्यजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

४. ॐ ह्रीं बुधग्रहारिष्टनिवारक-श्री मल्लिनाथजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

५. ॐ ह्रीं गुरुग्रहारिष्टनिवारक-श्री महावीरजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

६. ॐ ह्रीं शुक्रग्रहारिष्टनिवारक-श्री पुष्पदन्तनाथजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

७. ॐ ह्रीं शनिग्रहारिष्टनिवारक-श्री मुनिसुव्रतनाथजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

८. ॐ ह्रीं राहुग्रहारिष्टनिवारक-श्री नेमिनाथजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

९. ॐ ह्रीं केतुग्रहारिष्टनिवारक-श्री पार्श्र्वनाथजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

णमोकार महामंत्र के एक-एक पद भी एक-एक ग्रह की शांति के लिए माने गये हैं, जो कि सूर्य, चन्द्र आदि के नंबर से दिये गये हैं-

१. ॐ ह्रीं णमो सिद्धाणं। (७००० जाप्य)

२. ॐ ह्रीं णमो अरिहंताणं। (११००० जाप्य)

३. ॐ ह्रीं णमो सिद्धाणं। (१०००० जाप्य)

४. ॐ ह्रीं णमो उवज्झायाणं। (१४००० जाप्य)

५. ॐ ह्रीं णमो उवज्झायाणं। (१९००० जाप्य)

६. ॐ ह्रीं णमो उवज्झायाणं। (१०००० जाप्य)

७. ॐ ह्रीं णमो लोए सव्वसाहूणं। (२३००० जाप्य)

८. ॐ ह्रीं णमो लोए सव्वसाहूणं। (१८००० जाप्य)

९. ॐ ह्रीं णमो लोए सव्वसाहूणं। (१०००० जाप्य)