Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


पूज्य गणिनीप्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी ससंघ ऋषभदेवपुरम्-मांगीतुंगी में विराजमान है ।

प्रतिदिन पारस चैनल के सीधे प्रसारण पर प्रातः 6 से 7 बजे तक प.पू.आ. श्री चंदनामती माताजी द्वारा जैन धर्म का प्रारंभिक ज्ञान प्राप्त करें |

अकलंक प्रतिष्ठा पाठ

ENCYCLOPEDIA से
Jainudai (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित १२:३२, २४ फ़रवरी २०१७ का अवतरण

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अकलंक प्रतिष्ठा पाठ
A book written by 'Aklankdev Bhatta'. अक्लान्क्देव भत्ता द्वारा रचित संस्कृत में एक रचना जो दक्षिण भारत में प्रचलित है।