Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


21 फरवरी को मध्यान्ह 1 बजे लखनऊ विश्वविद्यालय में पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी का मंगल प्रवचन।

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें पू.श्री ज्ञानमती माताजी एवं श्री चंदनामती माताजी के प्रवचन |

"अक्षीण महालय" के अवतरणों में अंतर

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
छो
 
पंक्ति १: पंक्ति १:
 
'''अक्षीण महालय''' <br />
 
'''अक्षीण महालय''' <br />
A kind of supernatural power; miraculous power of never ending sitting in limited space. ऋद्धिः जिसके पर अभाव से मुनि के समीप अलय स्थान में भी अनगिनत जीव सुखपूर्वक आसानी से बैठ जाते हैं [[श्रेणी:शब्दकोश]]
+
A kind of supernatural power; miraculous power of never ending sitting in limited space. ऋद्धिः जिसके पर अभाव से मुनि के समीप अलय स्थान में भी अनगिनत जीव सुखपूर्वक आसानी से बैठ जाते हैं [[श्रेणी:शब्दकोष]]

२०:४६, २६ जुलाई २०१८ के समय का अवतरण

अक्षीण महालय
A kind of supernatural power; miraculous power of never ending sitting in limited space. ऋद्धिः जिसके पर अभाव से मुनि के समीप अलय स्थान में भी अनगिनत जीव सुखपूर्वक आसानी से बैठ जाते हैं