Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


गणिनीप्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी ससंघ का 13 दिसंबर को महमूदाबाद से लखनऊ की ओर मंगल विहार ।

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें जिनाभिषेक एवं शांतिधारा पुन: ज्ञानमती माताजी - चंदनामती माताजी के प्रवचन ।

चतुर्विंशतिस्तव

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चतुर्विंशतिस्तव
Eulogy of 24 Tirthankars (Jaina-Lords).

अंगबाह्य श्रुत के १४ प्रकीर्णकों में एक प्रकीर्णक , तीर्थंकरों के गुणों का कीर्तन करना ।