Whatsappicon.jpg
Whatsappicon.jpg
ज्ञानमती नेटवर्क से जुड़ने के लिये ADD ME < मोबाइल नं.> लिखकर +91 7599002108 पर व्हाट्सएप पर मेसेज करें|


पूज्य गणिनी प्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी ससंघ जम्बूद्वीप हस्तिनापुर में विराजमान हैं, दर्शन कर लाभ लेवें ।

पारस चैनल पर प्रातः ६ से ७ बजे तक देखें जिनाभिषेक एवं शांतिधारा पुन: ज्ञानमती माताजी - चंदनामती माताजी के प्रवचन ।

"भक्तामर स्तोत्र का पाठ" के अवतरणों में अंतर

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
('श्रेणी:प्रज्ञाश्रमणी_आर्यिका_श्री_चंदनामती_माता...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)
 
(Uploaded part 3)
(इसी सदस्य द्वारा किया गया बीच का एक अवतरण नहीं दर्शाया गया)
पंक्ति १: पंक्ति १:
 
[[श्रेणी:प्रज्ञाश्रमणी_आर्यिका_श्री_चंदनामती_माताजी_के_प्रवचन]]
 
[[श्रेणी:प्रज्ञाश्रमणी_आर्यिका_श्री_चंदनामती_माताजी_के_प्रवचन]]
 +
<div class="side-border14">
 +
==<center><font size=5 color=purple>'''भक्तामर स्तोत्र'''</font></center>==
 +
{| class="wikitable" width="100%"
 +
|-
 +
| {{#ev:youtube|dlTn7cSP23A|300|center|'''श्लोक नं-१'''}} || | {{#ev:youtube|Tu7dpul-Rx0|300|center|'''श्लोक नं-२'''}} || 
 +
|-
 +
| {{#ev:youtube|bmBiXFFCRdo|300|center|'''श्लोक नं-३'''}}

२०:२२, १२ फ़रवरी २०२० का अवतरण

भक्तामर स्तोत्र

श्लोक नं-१
श्लोक नं-२
श्लोक नं-३

दिक्चालन सूची