दर्शनमोहनीय कर्म

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

दर्शनमोहनीय कर्म
Right faith deluding Karmas. जिस कर्म के उदय से देवशास्त्र गुरू एवं तत्वों के प्रति अश्रद्धान का भाव होता हो , यह सम्यग्दर्शन का घात करती है।