यथाख्यात विहार-शुद्धिसंयत

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

यथाख्यात विहार-शुद्धिसंयत–Yathakhyat Vihar–Shuddhi Sanyat. Those at the 11th, 12th, 13th or 14th stages of spiritual development. 11, 12, 13, 14वे गुणस्थान में पाये जाने वाले जीव यथाख्यात विहार शुद्धि संयत कहलाते है| अथवा जो यथाख्यात चारित्र वाले होते हुए शुद्धि प्राप्त संयत है|