यथाख्यात संयम

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

यथाख्यात संयम–Yathakhyata Sanyam. Revelation of absolute conduct. वीतराग संयम जो मोहनी कर्म के उपशांत या क्षय हो जाने पर प्रगट होता है|