रक्तचाप में कारगर और कैल्शियम से भरपूर होता है खजूर

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

रक्तचाप में कारगर और कैल्शियम से भरपूर होता है खजूर

खजूर मधुर, शीतल, पौष्टिक और तुंरत शक्ति देने वाला होता है। इसमें कार्बोहाईड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस आदि प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। खजूर खाने से ब्लड तेजी से बनता है। यह हृदय और मस्तिष्क को शक्ति देता है। साथ ही, लीवर के रोगों में लाभकारी होता है। इसके अलावा, यह वात—पित्त—कफ नाशक होता है। यह हमारे पाचन तंत्र को भी पूरी तरह से साफ करता है। आज हम आपको खजूर के फायदों के बारे में बता रहे हैं।

१— बच्चों के लिए उपयोगी:

१. कमजोर बच्चों को खजूर और शहद मिलाकर खिलाना बहुत फायदेमंद होता है। जिन बच्चों में रात को बिस्तर गीला करने की आदत होती है, उन बच्चों को दूध के साथ खजूर खाने के लिए दें।

२- पेट के रोग होंगे दूर इससे आंतों को बल और शरीर को स्फूर्ति मिलती है। खजूर आंतों के हानिकारक जीवाणुओं को नष्ट करता है। इसके विशिष्ट तत्व ऐसे जीवाणुओ को जन्म देते हैं, जो आंतों की सक्रियता बढ़ाते हैं।

३- मजबूत होंगे दांत खजूर में मौजूद कैल्शियम दांतों की कमजोरी को दूर करता है। इसके अलावा, खजूर में पाया जाने वाला पलोरीन नामक मिनरल दांतों की समस्या को दूर करने में सहायक होता है।

४. ब्लड प्रेशर को काबू करे खजूर के सेवन से कुछ ही दिनों में लो ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा मिल जाता है। रोज ३-४ खजूर गर्म पानी में धोकर खाएं।

२- दूध

दूध कैल्शियम का अच्छा स्रोत है। इसके सेवन से हड्डियों में मजबूती आती है। नियमित रूप से दिन में दो बार दूध पीने आपको कैल्शियम के साथ प्रोटीन भी मिलता है। दूध में कैल्शियम के अलावा प्रोटीन, पोटेशियम, फास्फोरस, विटामिन ए, डी, बी १२ और राइबोफ्लोविन प्रचुर मात्रा में होता है। ऐसा नहीं है कि दूध बच्चों के लिए ही फायदेमंद है, बल्कि बड़े लोगों के लिए भी दूध पीना अच्छा रहता है। रात में खाना खाने के बाद हल्का गर्म दूध पीने से खाना जल्दी डादजेस्ट होता है और नींद भी अच्छी आती है।

३- दही

दही में कैल्शियम की मात्रा अधिक होता है। अगर आप एक बार दही खाते हैं तो आपके शरीर में ४०० मिग्रा कैल्शियम बढ़ता है। हेल्दी और फिट बने रहने के लिए रोज दिन में एक बार बिना फैट वाली दही खाएं। दूध और दही के अलावा चीज में भी कैल्शियम की मात्रा भरपूर होती है।

४- बादाम

बादाम में कैल्शियम के साथ ही विटामिन ई और ओमेगा—३ फैटी एसिड भी होता है। साथ ही , बादाम में मौजूद फॉस्फोरस हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाता है । इसके साथ ही इनसे जुडी बीमारियों के होने का खतरा भी कम हो जाता है।

५- पालक

पालक में बहुत अधिक मात्रा में कैल्शियम, आयरन और विटामिन श्केश् होता है। इसमें मौजूद फॉस्फोरस हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाता है। इसके साथ ही इनसे जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा भी कम हो जाता है।

६-अंजीर

ताजे और सूखे, दोनों तरह के अंजीर सेहत के लिए फायदेमंद होते है। इसमें आयरन और कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है, जो हड्डियों के लिए बहुत उपयोगी होता है। ताजे अंजीर में फायटो न्यूट्रिएंट्स, एंटी ऑक्सीडेंट और विभिन्न विटामिन पाए जाते हैं, जबकि सूखा अंजीर कैल्शियम, कॉपर, मैग्नीशियम , आयरन, सेलोनियम व जिंक का अच्छा स्रोत है। ताजे अंजीर को सलाद के रूप में और सूखे अंजीर को दूध में उबालकर ले सकता है।

७-टमाटर

टमाटर में कैलोरी कम और पोषक तत्व बहुत अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। टमाटर विटामिन ए, सी, एंटी ऑक्सीडेंट, अल्फा और बीटा केरोटिन, जैनथेनियम और ल्युटिन का अच्छा स्रोत होता है, जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत उपयोगी होते हैं। साथ ही, इसमें विटामिन बी कॉॅॅम्प्लेक्स और कई मिनरल जैसे आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में होते हैं।

८- टोपू

टोपू सोयाबीन से बना पनीर होता है। यह प्रोटीन का एक बेहतरीन स्रोत है । साथ ही टोपू में जिंक आयरन, सेलेनियम, पोटेशियम और अन्य कई विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं। टोपू का सेवन हड्डियों को मजबूत बनाता है।

९- नट और बीज

नट और बीज कई मायनों में हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं। अखरोट और अलसी में ओमेगा—३ फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है। मूंगफली और बादाम में पोटेशियम होता है जो यूरीन से होने वाली कैल्शियम की हानि को सेंकता है।नट्स में मौजूद प्रोटीन और अन्ध्य पोषक तत्व हड्डियों को कमजोर नहीं होने देते।

हस्तिनापुर टाईम्स,८ दिसम्बर, २०१४