वार्ता:स्त्यनग्र्द्धि

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

स्त्यानगृद्वि कर्म प्रकृति -Styangraddhi Karma Prakrti. A karmic nature causing power of committing abnormal activity in the state of somnambulism.दर्शनावरण कर्म की उत्तर प्रकृतियो मे एक प्रकृति, जिसके निमित्त से स्वप्न अवस्था मे विशेष श़िक्त प्रकट होती है और जीव सोता हुआ भी भयानक असाधारण कार्य करता है उसे स्तयानगृद्वि निद्र कहते है।