16 अगस्त 2017 प्रवचन

ENCYCLOPEDIA से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुम्बई महानगर के जैनम हॉल में जैन समाज की सर्वोच्च साध्वी गणिनीप्रमुख श्री ज्ञानमती माताजी का ६५वाँ चातुर्मास-वर्षायोग बहुत धूमधाम से चल रहा है। प्रात:काल सभी भक्तगण ६ बजे से ७ बजे तक पारस टी.वी. के माध्यम से माताजी से प्रवचनों के द्वारा आगम के अनुवूâल धर्म ज्ञान प्राप्त कर रहे हैं। आज पूज्य बड़ी माताजी ने ध्यान साधना के माध्यम से सभी भक्तगणों को समवसरण का वर्णन बताया।

प्रज्ञाश्रमणी आर्यिका श्री चंदनामती माताजी ने प्रथमाचार्य श्री शांतिसागर जी महाराज के जीवन गाथा के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। माताजी ने बताया कि भाद्रपद शुक्ला द्वितीया को आचार्यश्री की ६३वीं पुण्यतिथि मनाई जायेगी। भारत के विभिन्न नगरों एवं मुम्बई महानगर में आचार्यश्री की प्रतिमा जी का पंचामृत एवं अनेक फलों के रसों से अभिषेक करने की तैयारी बहुत ही जोर-शोर से चल रही है।