जम्बूद्वीप

ENCYCLOPEDIA से
Editor (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित २३:०६, २६ अप्रैल २०१३ का अवतरण (''''जम्बूद्वीप'''-<br /> तीनों लोकों में मध्यलोक के अंदर अस...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)
(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जम्बूद्वीप-
तीनों लोकों में मध्यलोक के अंदर असंख्यात द्वीप- समुद्रों में प्रथम द्वीप का नाम है - जम्बूद्वीप
प्राचीन शास्त्रों में कही गई यह रचना हस्तिनापुर में पू० ज्ञानमती माताजी की प्रेरणा से सन् १९८५ में निर्मित हुई है ।
उसके दर्शन करने दुनिया भर से लोग हस्तिनापुर आते हैं ।